नर्ब्देश्वर धाम, सीलू , सांचौर

नर्ब्देश्वर धाम, सीलू , सांचौर

परियोजना का नाम: नर्बदेश्वर धाम सीलू, सांचौर

176.97 लाख रूपये से कार्य पूर्ण किया जा चुका है।

बाईपास कैनाल एवं घाट का निर्माण, मंदिर का निर्माण एवं संगमरमर प्रतिमाएं लगायी गई एवं द्वितीय चरण में विस्तार एवं सौन्दर्यीकरण कार्य हेतु राशि सार्वजनिक निर्माण विभाग को स्थानान्तरित की जा चुकी है।

नर्बदेश्वर धाम, सीलू (जालौर)

नर्बदा नदी देष की पवित्र एवं पूजनीय नदियों में प्रमुख है। गंगा, यमुना, सरस्वती, नर्बदा, कृष्णा, कावेरी एवं गोदावरी नदियां पापमोचनी नदियों के रूप में दुनिया में विख्यात है। 

गुजरात होते हुए नर्बदा नदी का पवित्र जल नहर के द्वारा राजस्थान के जालौर जिले के सीलू गांव में प्रवेष करता है। जहां पर भगवान षिव का प्राचीनतम मंदिर स्थित है। इस पवित्र स्थान को नर्बदेष्वर धाम के रूप में जाना जाता है। नर्बदेष्वर धाम में हजारों-हजार श्रद्धालु इस आस्था के केन्द्र पर स्नान कर अपनी श्रद्धा का प्रगटिकरण करते हैं।